तेरे इश्क़ का ये कितना हसीन एहसास हैं, लगता है जैसे तू हर पल मेरे पास हैं, मोहब्बत तेरी दीवानगी बन चुकी है मेरी, और

Read More

सब्र करना सीखा है मैने , इश्क-ए-मुहाब्बत मे……!!! अब जाकर शामिल हुआ है , ये सिलसिला अपनी आदत मे……!!! हिज्र की राते बहुत काटी है

Read More

तुझे चाहते हैं बेईन्तहा , पर चाहना नही आता…ये कैसी मोहब्बत हैँ कि ,हमे कहना नही आता…जिन्दगी मेँ आ जाओ,हमारी जिन्दगी बन कर,कि तेरे बिन

Read More

हमने चाहा बहुत पर इज़हार कर ना सके,कट गई उमर पर ‪‎प्यार‬ कर ना सके,उसने माँगी भी तो हमसे जुदाई माँगी,और हम थे की इनकार

Read More

रातों का मंज़र ‪‎अज़ीब‬ लगता है……साया तेरी यादों का करीब लगता है, लहरें आकर वापिस हो जाती है,वो साहिल ‪‎तन्हा‬ अज़ीब लगता है. उसको ‪‎यादों‬

Read More

लहरो मे डूबते रहे किनारा ना मिला,उससे बिछड़ के फिर कोई वैसा न मिला,कुछ लोग थोड़ी देर अच्छे तो लगे मगरहम जिसके हो सकें कोई

Read More

तेरी ‪‎डोली‬ उठी, मेरी ‪‎मैय्यत‬ उठी;‪‎फूल तुझ‬ पर भी  बरसे, ‪‎फूल मुझ‬ पर भी ‪बरसे‬;‪‎ ‪‎तू सज‬ गई,‪मुझे भी सजाया‬ गया;‪तू‬ भी ‪घर‬ को ‪चली‬,

Read More