तुझे चाहते हैं बेईन्तहा , पर चाहना नही आता…ये कैसी मोहब्बत हैँ कि ,हमे कहना नही आता…जिन्दगी मेँ आ जाओ,हमारी जिन्दगी बन कर,कि तेरे बिन

Read More

हमेशा मेरे हिस्से ही क्यूँ आती है,‪याद‬ वाली सड़कें.. जिन पर ‪‎साथ‬ चले थे ‪‎हम‬ कभी.बेतरह ‪तनहा‬ सा लगता है वो ‪‎मोड़‬,जहाँ हम मिले थे

Read More

तेरी ‪‎डोली‬ उठी, मेरी ‪‎मैय्यत‬ उठी;‪‎फूल तुझ‬ पर भी  बरसे, ‪‎फूल मुझ‬ पर भी ‪बरसे‬;‪‎ ‪‎तू सज‬ गई,‪मुझे भी सजाया‬ गया;‪तू‬ भी ‪घर‬ को ‪चली‬,

Read More