तुझे चाहते हैं बेईन्तहा , पर चाहना नही आता…ये कैसी मोहब्बत हैँ कि ,हमे कहना नही आता…जिन्दगी मेँ आ जाओ,हमारी जिन्दगी बन कर,कि तेरे बिन

Read More

हमने चाहा बहुत पर इज़हार कर ना सके,कट गई उमर पर ‪‎प्यार‬ कर ना सके,उसने माँगी भी तो हमसे जुदाई माँगी,और हम थे की इनकार

Read More

रातों का मंज़र ‪‎अज़ीब‬ लगता है……साया तेरी यादों का करीब लगता है, लहरें आकर वापिस हो जाती है,वो साहिल ‪‎तन्हा‬ अज़ीब लगता है. उसको ‪‎यादों‬

Read More

लहरो मे डूबते रहे किनारा ना मिला,उससे बिछड़ के फिर कोई वैसा न मिला,कुछ लोग थोड़ी देर अच्छे तो लगे मगरहम जिसके हो सकें कोई

Read More

अपना बना कर भुला रहा है कोई,ख्वाब दिखा कर रुला रहा है कोई,मर जाएँगे बिन उनके हम,यह जानते हुए भी दूर जा रहा है कोई

Read More

हमेशा मेरे हिस्से ही क्यूँ आती है,‪याद‬ वाली सड़कें.. जिन पर ‪‎साथ‬ चले थे ‪‎हम‬ कभी.बेतरह ‪तनहा‬ सा लगता है वो ‪‎मोड़‬,जहाँ हम मिले थे

Read More

तेरी ‪‎डोली‬ उठी, मेरी ‪‎मैय्यत‬ उठी;‪‎फूल तुझ‬ पर भी  बरसे, ‪‎फूल मुझ‬ पर भी ‪बरसे‬;‪‎ ‪‎तू सज‬ गई,‪मुझे भी सजाया‬ गया;‪तू‬ भी ‪घर‬ को ‪चली‬,

Read More