जिंदगी में कई बार ऐसे मुकाम आते हैं जहाँ से आगे बढने के लिए हमें हौसले की जरुरत पड़ती है। इतिहास गवाह है की हर सफल इंसान के जीवन में कठिनाइयाँ आई हैं, रुकावटें आई हैं लेकिन वो आज सफल हैं क्यूँ की उनके हौंसले बुलंद थे। अगर आप भी अपनी जिंदगी में संघर्ष कर रहे हैं तो आपको भी हौसला रखना होगा। आज हम हौसला बढाने वाली हौंसला बुलंद शायरी लेकर आये हैं।

हमें उम्मीद है की ये हौसला बढाने वाली जूनून भरी शायरी आपको पसंद आएगी। आप इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कर सकते हैं।

हौंसला बुलंद शायरी

रोज रोज गिर कर भी मुक्कमल खड़े हैं,
ऐ जिन्दगी देख मेरे हौसले तुझसे भी बड़े हैं

hausla shayari in hindi

गैरों पर किया विश्वास हौसला तोड़ देता है,
ख़ुद पर किया विश्वास तो हौसला रिकार्ड तोड़ देता है.

वो अक्सर कुछ न कुछ कर लेता है,

जो डर को बाहर फेंक अंदर हौंसला भर लेता है।

डर मुझे भी लगा फासला देखकर
पर मैं बढ़ता गया रास्ता देखकर
खुद-ब-खुद मेरे नजदीक आती गई
मेरी मंजिल मेरा हौसला देखकर।

सच होते हैं उनके सपने, जिनके सपनों में जान होती है

कुछ नहीं होता पँखो से, हौंसलो से उड़ान होती है।

हर गम ने, हर सितम ने, नया हौसला दिया,
मुझको मिटाने वाले ने मुझको बना दिया.

जुनून भरी शायरी

जुनून, हौसला और पागलपन आज भी वही हैं

मैंने जीने का तरीका बदला है तेवर नहीं

तूफान में ताश का घर नहीं बनता,

रोने से बिगड़ा मुकद्दर नहीं बनता।

दुनिया को जीतने का हौसला रखो,

एक हार से कोई फ़क़ीर और

एक जीत से कोई सिकन्दर नही बनता ।

जुनून भरी शायरी

न तकलीफ, न ही संघर्ष तो ख़ाक मज़ा है जीने में,

थम जाते हैं बड़े बड़े तूफ़ान, जब आग लगी हो सीने में।

हौसला शायरी 4 लाइन

जरूरत पड़ने पर चिड़िया भी बना लेती है घोंसला,
तू भी पा जायेगा अपना मुकाम मन में रख हौसला.

मुश्किलें बहुत हैं रास्ते पर मैं जानता हूँ,

पर हौसलें मेरे बुलंद हैं यह भी मानता हूँ.

जब हौसला बना लिया ऊँची उड़ान का,
फिर देखना फ़िजूल हैं कद आसमान का

हौसला शायरी हिंदी

आसानी से मिलते नहीं तमन्नाओं के शहर,

मंज़िल को पाने के लिए हौसला भी जरूरी है

ख्व़ाब टूटे हैं मगर हौसले जिन्दा हैं,
हम वो है जहाँ मुश्किलें शर्मिंदा हैं

राहें खुश्क हों कितनीं भी कदम मेरा हर चुस्त होगा,

नज़र कमज़ोर बेशक हो नज़रिया मेरा दुरुस्त होगा।

हौसला बढ़ाने वाले स्टेटस

जो तूफ़ानों में पलते जा रहे हैं
वही दुनिया बदलते जा रहे हैं

अपने हौंसलों की आग ऐसी रखनी होगी,

की कामियाबी का लोहा पिघल जाए।

खूब हौसला बढ़ाया आँधियों ने धूल का,
मगर दो बूँद बारिश ने औकात बता दी.

वक़्त आने दे दिखा देंगे तुझे ऐ आसमाँ,

हम अभी से क्यूँ बताएँ क्या हमारे दिल में है।

ये कह के दिल ने मेरे हौसले बढाये हैं ,
गमों की धूप के आगे ख़ुशी के सायें हैं.

हौसला बढ़ाने वाली शायरी

एक सपने के टूटकर
चकनाचूर हो जाने के बाद ,
दूसरा सपना देखने के
हौसले को ज़िन्दगी कहते हैं।

ये कह के दिल ने मिरे हौसले बढ़ाए हैं,

ग़मों की धूप के आगे ख़ुशी के साए हैं।

वाकिफ़ कहाँ जमाना हमारी उड़ान से,
वो और थे जो हार गये आसमान से

इन्ही ग़म की घटाओं से ख़ुशी का चाँद निकलेगा
अँधेरी रात के पर्दे में दिन की रौशनी भी है

सीखा है मैंने दिये से खुद को बचाए रखना,

आंधी और अँधेरों में भी होंसला बनाए रखना।

उसे गुमाँ है कि मेरी उड़ान कुछ कम है,

मुझे यक़ीं है कि ये आसमान कुछ कम है।

हौसला शायरी 4 लाइन

यूँ हीं नहीं मिलती राही को मंजिल,

एक जुनून सा दिल में जगाना होता है।

पूछा चिङिया से कैसे बनाया आशियाना

बोली,भरनी पङती है उङान बार-बार,

तिनका तिनका उठाना होता है।

मेरी मंजिल मेरे करीब हैं,
इसका मुझे एहसास हैं,
गुमाँ नहीं मुझे इरादों पर अपने,
ये मेरी सोच और हौसलों का विश्वास हैं.

तू रख हौसला वो मंजर भी आयेगा,

प्यासे के पास चलकर समंदर भी आयेगा।

थक हार के न रुकना ए मंजिल के मुसाफिर,

मंजिल भी मिलेगी मिलने का मजा भी आयेगा ।

हौसले बुलंद कर रास्तों पर चल दे,

तुझे तेरा मुक़ाम मिल जायेगा।

बढ़ कर अकेला तू पहल कर,

देख कर तुझको काफिला खुद बन जायेगा।

आपके लिए कुछ अन्य बेहतरीन शायरियां:

हौसला और उत्साह बढाने वाली शायरी आपको कैसी लगी हमें जरुर बताएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × 3 =